शहीद दिवस पर शायरी – Martyrs’ Day Shayari in Hindi

Shaheed Diwas Shayari in Hindi – शहीद दिवस उन स्वतंत्रता सेनानियों को याद करने और सम्मान देने के लिए मनाया जाता है जिन्होंने अपने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी जिसके सम्मान के लिए शहीद दिवस पर शायरी

भारत में कई तिथियों को शहीद दिवस के रूप में मनायी जातीं हैं, जिनमें से दो प्रमुख तिथि हैं- 30 जनवरी और 23 मार्च। 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या हुई थी। 23 मार्च 1931 के दिन शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को अंग्रेजों ने फांसी पर लटकाया था।

shaheed diwas Shayari in hindi

शहीद दिवस के रूप में मनाया जाने वाला यह दिन वैसे तो भारतीय इतिहास के लिए काला दिन माना जाता है लेकिन आजादी की लड़ाई में अपने प्राणों का बलिदान देने वाले यह नायक हमारे आदर्श हैं।

देश के लिए वीरता पूर्वक अपनी जान कुर्बान करने वाले इन्हीं वीरों की शहादत को श्रद्धांजलि देने के लिए हर साल भारत में 23 मार्च को शहीद दिवस मनाया जाता है।

जिसके लिए हम कुछ शायरी साझा कर रहे है, जिसको आप शहीद वीरों की श्रद्धांजलि देने के लिए इस्तेमाल कर सकते है ।

Shaheed Diwas Shayari in Hindi – Martyrs Day Shayari in Hindi


जो वादे लिए थे मैंने तुमसे, क्या उन पर कभी तुम चलते हो; फिर बोलो किस मुहं से मेरा जन्म दिवस मनाते हो। देश के शहीदो को नमन।


मैं जला हुआ राख नहीं, अमर दीप हूँ, जो मिट गया वतन पर, मैं वो शहीद हूँ। देश के शहीदो को नमन।


shaheed diwas shayari
shaheed diwas par shayari

सीनें में ज़ुनू, ऑखों में देंशभक्ति, की चमक रखता हुँ; दुश्मन के साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखता हुँ। देश के शहीदो को नमन।


आओ झुक कर सलाम करे उनको, जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है। खुशनसीब होता है वो खून, जो देश के काम आता है। देश के शहीदो को नमन।


Shaheed Diwas Shayari


जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को, फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को। देश के शहीदो को नमन।


ज़माने भर मे मिलते है आशिक कई, मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता, नोटों मे भी लिपट कर, सोने मे सिमटकर मरे है कई। मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता। देश के शहीदो को नमन।


यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी, और पूजे न गए वीर, तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी। देश के शहीदो को नमन।


अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ भुला सकते नहीं, सर कटा सकते है लेकिन सर झुका सकते नहीं। देश के शहीदो को नमन।


Shaheed Diwas Shayari Hindi


इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना, रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना; लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने, ऎसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल मे बसाये रखना। देश के शहीदो को नमन।


ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी क़सम, तेरी राहों मैं जां तक लुटा जायेंगे; फूल क्या चीज़ है तेरे कदमों पे हम, भेंट अपने सरों की चढ़ा जायेंगे। देश के शहीदो को नमन।


सैकड़ो परिंदे आसमान पर आज नज़र आने लगे, शहीदो ने दिखाई है राह उन्हें आजादी से उड़ने की। देश के शहीदो को नमन।


Shaheed Diwas Shayari
Shaheed Diwas Shayari

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है। देश के शहीदो को नमन।


शहीद दिवस पर शायरी


अपनी आज़ादी को हम हरगिज भुला सकते नहीं, सर कटा सकते है लकिन सर झुका सकते नहीं। देश के शहीदो को नमन।


मन को खुद ही मगन कर लो, कभी-कभी शहीदों को भी नमन कर लो। देश के शहीदो को नमन।


सर फ़रोशाने वतन फिर देखलो मकतल में है, मुल्क पर कुर्बान हो जाने के अरमां दिल में हैं। देश के शहीदो को नमन।


शहीद दिवस पर शायरी
शहीद दिवस पर शायरी

जब देश में थी दिवाली….. वो खेल रहे थे होली… जब हम बैठे थे घरो में…… वो झेल रहे थे गोली…क्या लोग थे वो अभिमानी… है धन्य उनकी जवानी…जो शहीद हुए है उनकी… ज़रा याद करो कुर्बानी… ए मेरे वतन के लोगो… तुम आँख में भर लो पानी… देश के शहीदो को नमन।


खून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्किल में है, सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है। देश के शहीदो को नमन।


शहीद दिवस शायरी इन हिंदी


लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा, मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा; मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि, मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा। देश के शहीदो को नमन।


करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले, हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले। देश के शहीदो को नमन।


वतन की मोहब्बत में खुद को तपाये बैठे है, मरेगे वतन के लिए शर्त मौत से लगाये बैठे हैं। देश के शहीदो को नमन।


मुझे तन चाहिए, ना धन चाहिए, बस अमन से भरा यह वतन चाहिए जब तक जिन्दा रहूं,इस मातृ-भूमि के लिए और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिये। देश के शहीदो को नमन।


ऐ वतन ऐ वतन, हमको तेरी कसम, तेरी राहो में जान तक लूटा जायेंगे। फूल क्या चीज है, तेरे कदमो मे हम, भेंट अपने सरो की चढ जाएंगे। देश के शहीदो को नमन।


In Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको इस पोस्ट की मदद से (Shaheed Diwas Shayari in Hindi) शहीद दिवस पर शायरी पढने को मिल चूका होगा, यदि आपको ऊपर साझा किये शायरी अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें ।

साथ ही हमसे सोशल मीडिया पर जुड़ने के लिए फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो जरुर करें, और हमारे YouTube Channel को भी सब्सक्राइब जरुर कर लें।

इसे भी पढ़े :

मैं एक हिंदी ब्लॉगर हूँ, यहाँ हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करता हूँ।

2 thoughts on “शहीद दिवस पर शायरी – Martyrs’ Day Shayari in Hindi”

Leave a Comment