Sim Port Kaise Kare

Sim Port Kaise Kare – Sim Port Process in Hindi, अगर आप भी किसी सिम के नेटवर्क या इंटरनेट की समस्याओं से परेशान हैं तो आज मै आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने वाले हैं कि कैसे आप अपने सिम को किसी दूसरे और बढ़िया सर्विस प्रदान करने वाले ऑपरेटर मे ट्रान्सफर हो कर आप उन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

sim port kaise kare in hindi
सिम पोर्ट कैसे करें

आप अपने Airtel, Vodafone, Idea, Jio या किसी और ऑपरेटर के सिम कार्ड को MNP के माध्यम से आप किसी भी कंपनी की सिम को दूसरे सिम की कंपनी में ट्रान्सफर हो सकते हैं, कभी कभी ऐसा होता है कि जिस ऑपरेटर का आप सिम कार्ड का उपयोग कर रहे हैं और उसमे आपको कॉल दर या इंटरनेट दर की कीमत जयदा लेती है, या फिर टावर ना होने के कारण कॉल करने मे समस्या होती है, तो वैसी स्थिति में आप अपने सिम कार्ड को MNP (Mobile Number Portbility) करके किसी और ऑपरेटर में जा सकते हैं, इसके लिए कुछ शर्ते है जो निम्न हैं।

Sim Port करने के लिए क्या क्या चाहिए?

1. आपका सिम कार्ड 90 दिन पुराना होना चाहिए!
2. आपके सिम कार्ड में बैलेंस होना चाहिए (लगभग 5₹)

Sim Port करने के नुकसान क्या हो सकते हैं?

1. Balance और Internet Data नहीं मिलेगा!
2. Save किए गए Contact नहीं मिलेगा!
3. पुनः पोर्ट करने के लिए 90 दिन का इंतजार करना होगा!

Sim Port (MNP) कैसे करें (Sim Port Process in Hindi)

जैसा की हमने पहले बताया आप MNP के माध्यम से SMS करके UPC Code प्राप्त करना होगा, जो आपको नीचे बताए गए तरीके से कर सकते हैं।
आपको अपने मैसेज बॉक्स में PORT Mobile Number और 1900 नंबर पर भेज देना है। (Example – PORT 9876543210) 

मैसेज भेजने के बाद में आप के मोबाइल नंबर पर आपको एक UPC code मिलेगा, जिसको अपने मोबाइल में Screenshot या उस message को सेव कर लेना है, और यह ध्यान रखें कि यह UPC Code सिर्फ 15 दिनों के लिए ही वैलिड होगी।

Note: UPC Code किसी दूसरे के साथ शेयर ना करें, अंयथा उस UPC Code का गलत इस्तेमाल कर सकता है। 

अब आपको जिस भी सिम कार्ड ऑपरेटर कंपनी में सिम पोर्ट करवानी है, उसके रिटेलर ऑफिस में जा कर उस UPC Code देना होगा, साथ ही आपको आधार कार्ड लगेगा, उसके बाद Sim Port Process होने के बाद रिटेलर आपको एक नया SIM देगा जिसको चालू होने में लगभग 7 से 10 दिन लग सकते हैं, वैसे जब आपका पुराना सिम बंद हो जाएगा, तो फिर आप अपने न्यू सिम को फोन में लगा कर एक्टिवेट कर के पुनः पहले की तरह उपयोग कर सकते हैं।

Conclusion : मुझे आशा है कि ऊपर बताए गए Sim Port Process की माध्यम से अपनी सिम को पोर्ट कर चुके होंगे, अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें, धन्यवाद! 

Subscribe Our YouTube Channel

2 Comments

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.