Holi Status Shayari in Hindi | होली की शुभकामनाएं संदेश, शायरी

2

Holi क्यों मनाते हैं, Holi Status Shayari in Hindi

पौराणिक कथाओं के अनुसार राक्षस प्रवृत्ति वाला हिरण्यकश्यप अपने पुत्र प्रह्लाद की भगवान के प्रति भक्ति को देखकर बहुत परेशान था। उसने प्रह्लाद का ध्यान ईश्वर से हटाने के लिए हर संभव कोशिश की लेकिन उसे इसमें सफलता नहीं मिली।

अंततः हिरण्यकश्यप ने प्रह्लाद को जान से मारने का फैसला किया। उसने इसके लिए अपनी बहन होलिका से आग्रह किया। ऐसा कहा जाता है कि होलिका को भगवान भोलेनाथ ने यह वरदान में एक शाल दी थी जिसे पहनने से वो कभी भी आग में नहीं जलेगी।

Holi Status Shayari

इस वरदान को पाने वाली होलिका ने सोचा कि वह प्रह्लाद को आग में जाएगी और खुद शाल ओढ़ लेगी। इस तरह प्रह्लाद की जलने से मृत्यु हो जाएगी जबकि शाल उसको सुरक्षित रखेगा। हालांकि हुआ इसके ठीक विपरीत – ऐन मौके पर भगवान विष्णु ने हवा का ऐसा झोंका चलाया कि शाल उड़कर प्रहलाद के ऊपर आ गयी। भगवान ने प्रह्लाद की रक्षा की और होलिका का दहन हो गया।

 

इस तरह सभी ने अच्छाई पर बुराई की जीत के प्रतीक स्वरूप मिठाइयां बांटी और होली के त्योहार की शुरुआत हुई। होली के दिन गिले शिकवे भुलाकर सभी एक दुसरे को रंग लगाकर और मिठाई खिलाकर इस त्योहार को मनाते हैं।

Holi Status Shayari in Hindi

प्यार के रंगों से भरो पिचकारी,

स्नेह के रंगों से रंग दो दुनिया सारी,

ये रंग न जाने न कोई जात न बोली, 

सबको हो मुबारक ये हैप्पी होली।

 

अब क्या खा़क मनाऊँगा होली,

जब वो ही किसी और की हो ली

 

उनके प्यारे से चेहरे पर रंग लगा देते,

वो पास होते तो हम भी होली मना लेते

 

रंगो की बौछार नहीं, नज़रो की इनायत ही काफी है,

तुम सामने होते हो तो चेहरा यूँ ही गुलाल हो जाता है

 

होली के रंग मुझे रंग नहीं पाएंगे,

तेरा रंग उतरे तो कोई और रंग चढ़े

 

चेहरे को आज तक भी तेरा इंतज़ार है,

हमने गुलाल और को मलने नहीं दिया

 

तेरी चाहत का रंग चढ़ा है मुझ पर,

वो उतरे तो खेलूं होली

 

इस बार होली ऐसी मनाऊँगा, खुद को करके काला पीला,

तेरी गली पहुँच जाऊँगा.. तू सोचती रह जाएगी,

 

और तेरे भाई के सामने तुझे रंग लगा जाऊँगा

लाल हो या पीला, हरा हो या नीला,

Holi WhatsApp Shayari

सुखा हो या गिला, एक बार रंग लग जाये तो हो जाये रंगीला

पिचकारी की धार, गुलाल की बौछार,

 

अपनों का प्यार, यही है यारों होली का त्यौहार

होली.. होली होती है दीवाली मत समझना ,

 

हम तुम्हारे घर आये तो हमे मवाली मत समझना

अर्ज़ है … सर में दर्द हो तो खा लो सिरदर्द की गोली… वाह …वाह ..

सर में दर्द हो तो खा लो सिरदर्द की गोली .. वाह …वाह ..

मुबारक हो आपको हैप्पी होली.. हैप्पी होली।

 

ए खुदा आज तो रहम कर दे..मेरे दोस्त आज नहीं रह पाएँगे,

लगवा दे किसी लड़की के हाथों इन्हे रंग, ये कमीने पूरे साल नहीं नहायेंगे

 

सूरज की पहली किरण में 7 रंग हो, बागों में फूलों की खुशबू संग हो,

आप जब भी खोलें अपनी पलकें, आपके चहरे पर होली का रंग हो

 

यार के रंगों से भरो पिचकारी, स्नेह के रंगों से रंग दो दुनिया सारी,

ये रंग न जाने न कोई जात न बोली, सबको हो मुबारक ये हैप्पी होली।

 

निकलो गलियों में बना के टोली, भीगा दो आज हर लड़की की चोली,

मुस्करा दे तो उसे बाहों में भर लो.. वरना निकल लो कह के हैप्पी होली।

 

Holi Shayari For Family

 

होली का रंग तो कुछ ही पलों में धूल जायेगा

पर दोस्ती और प्यार का रंग नहीं धूल पायेगा

यही तो हैं, असली रंग हमारी ज़िन्दगी के..

जितना रंगोगे उतना गहरा होता ही जायेगा

 

प्यार के रंग से भरो पिचकारी,

स्नेह से रंग दो दुनिया सारी,

ये दिन ना जाने दोस्ती और दुश्मनी

मुबारक हो सिर्फ आपको की होली

 

खुदा करे हर साल चाँद बन के आये

दिन का उजाला शान बन के आये

कभी दूर ना हो आपके चेहरे से हंसी

ये होली का त्यौहार ऐसा मेहमान बन के आये

 

चन्दन की खुशबू, रेशम का हार..

फागुन की फुहार, गुलाल की हो बहार

पूरी हो दिल की उमीदें, मिले अपनों का प्यार

मुबारक हो आपको ये “होली” का त्यौहार

 

2 Line Holi Shayari

 

कानों के पीछे रंगों के निशान छोड़ !

यादों का बस्ता लिये होली जा रही है !!

 

एक दुसरे से बिछड़ कर हम कितने रंगीले हो गये !

मेरी आँखे लाल हो गयी. . और तेरे हाथ पीले हो गयें !!

 

पिचकारी की धार, गुलाल की बौछार !

अपनों का प्यार, यही है यारों होली का त्यौहार !!

 

कसक अब भी उठती है होली के उस दिन की !

सूखे सूखे से लौट आए थे उसे सूखा छोड़कर !!

 

जमाने के लिए आज होली है !

मुझे तो तेरी यादे रोज रंग देती है…!!

 

दूरियाँ दिल की मिटें, हर कहीं अनुराग हो !

न द्वेष हो, न राग हो, ऐसा यहाँ पर फाग हो !!

 

चेहरे को आज तक भी तेरा इंतज़ार है !

हमने गुलाल किसी को मलने नहीं दिया !!

 

दिल ने एक बार ओर हमारा कहना माना हैं !

इस होली पर फिर उन्हें रंगने जाना हैं !!

 

तेरी मोहब्बत का रंग,कुछ ऐसा है..की !

अब और कोई रंग..उस पर चढ़ता ही नहीं !!

 

तेरा रंग तो पहले ही कब का चढ़ चुका इस मन पर !

ये होली तो तेरे रूखसार छूने का फ़क़त एक बहाना भर है !!

 

ज़माने के लिये तो कुछ दिन बाद होली है !

मगर मुझे तो रोज़ रंग देती है यादें तेरी !!

 

वो बात करने तक को राजी़ नही है !

और हम होली पर रंग लगाने की हसरत जमाये बैठे हैं !!

 

पीले रंग की ज़िद थी हम मीलों चले !

नीले का मलाल कि हम पीले न हुए !!

 

रंगो की बौछार नहीं, नज़रो की इनायत ही काफी है !

तुम सामने होते हो तो चेहरा यूँ ही गुलाल हो जाता है !!

 

Holi Poems In Hindi

 

होली है भाई होली है

 

होली है भाई होली है

मौज मस्ती की होली है

रंगो से भरा ये त्यौहार

बच्चो की टोली रंग लगाने आयी है

बुरा ना मानो होली है

होली है भाई होली है

एक दूसरे हो रंग लगाओ

मन की कड़वाहट को छोड़ो

सब मिल के खुशियां मनाओ

अपनी परंपरा कभी न छोड़ो

बुरा ना मानो होली है

होली है भाई होली है

होलिका दहन का मतलब समझो

हिरणकश्यप के दंभ को तोड़ो

भक्त प्रह्लाद को रखना याद

कभी न छोड़ना सच का साथ

बुरा ना मानो होली है

होली है भाई होली है

 

कहे धरती ये पुकार, आया होली का त्यौहार

 

कहे धरती ये पुकार,

आया होली का त्यौहार,

छोड़ सर्दी ली मौसम ने करवट,

लेकर अंगड़ाई आई है होली।

भेद-भाव को गिरा चले हम,

बढ़ी दूरियां मिटा चले हम,

गुलालों से तन है सजी,

पकवानों से रसोई है सजी,

बच्चे और नौजवानों की टोली,

रंगों संग पिचकारी है बोली,

बुरा ना मानो आई है होली।

मिलकर गले भाईचारा बढ़ाएं,

मेलजोल का पाठ पढ़ाएं,

संग हमारे धरती भी खेल रही होली।

धरती के सर पर चुनरी नीली नीली,

पैरों तले हरियाली ओढे खेत पीली पीली,

रंगों का यह मेल दिखाती,

एक दूजे बिन अधूरा है सिखाती,

जंग की रंगीन दुनिया में भी,

दिल की चादर कोरी कोरी,

तन संग मन भी भीग जाए,

ऐसे रंग में रंग दे होली।

अपनापन का रंग लगाकर,

सुख के रंग भर दे तो खुश रंग है होली।

प्रीत का ज्योत जलाकर,

सबको मीत बना दे तो,

झूम कर यह कह उठे दिल,

हर दिन है सब की होली।

 

रंगों की शाम लायी होली

 

रंग रंगीली आई होली,

खुशियों को संग लायी होली।

अपने रंग में रंगने को,

अपनों को संग लायी होली।

बुराईयों को मिटाने को,

अच्छाई का दीप जलाये होली।

रूठे हुए को मनाने को,

प्यार की भाषा सिखाये होली।

भूखे हुए को खिलाने को,

पकवानों की थैली लायी होली।

बिछड़े हुए को मिलाने को,

रंगों की शाम लायी होली।

सभी के जीवन को खुशहाल करने को,

यादों की पोटरी लायी होली।

 

याद आती है वो बचपन वाली होली

 

एक बार फिर होली आई है,

साथ ढेर सारी यादे लाई है।

याद आती है वो बचपन की होली,

गुब्बारों से जब खेला करते थे।

पिचकारियों में रंग भरा करते थे,

दोस्तों से रंगों पे झगड़ा करते थे।

याद आती है वो ठुमको वाली होली,

नाचते हुए जब झुमा करते थे,

ठहाके के संग जिया करते थे,

अपनों को भी रंग लगवाया करते थे।

याद आती है वो पकवानों वाली होली,

गुजियों की थाली को देखा करते थे,

पेट भर के जब खाया करते थे,

गरीबों को भी खिलाया करते थे।

याद आती है वो बचपन वाली होली,

दिल से जब जिया करते थे।

 

आओ हम सब खेले होली

 

होली आयी होली आयी

ले अबीर की टोली आयी

खुशियों की अम्बार लायी

रंगो का त्यौहार लायी

बच्चे बूढ़े और जवान

खूब खाये मिठाई पकवान

उम्र की सिमा भूल गए सब

रंग सरोवर में डूब गए सब

आओ हम सब खेले होली

नहीं बोले कोई कड़वी बोली

प्रेम के रंग में सब को रंग डाले

नफरत दिल में कोई न पाले

उंच नीच का भेद भूलकर

एक दूजे को रंग लगाए

जाती मजहब से ऊपर उठकर

होली का त्यौहार मनाये

 

Holi Shayari For Whatsapp

 

फ़ालगुन का महीना, वो मस्ती के गीत;

रंगों का मेल, वो नटखट सा खेल;

दिल से निकलती है ये प्यारी सी बोली;

मुबारक हो आपको ये रंग भरी होली

 

इस बार होली ऎसी मनाऊंगा,

खुद को कर के काला-पिला..

तेरी गली पोहोच जाउंगा,

तू सोचती रेह जायेगी,

और तेरे भाई के सामने तुझे रंग लगा के जाउंगा…

 

खुदा करे की इस बार होली ऎसी आए,

बिछडा हुवा मेरा प्यार मुझे मिल जाए,

मेरी दुनिया तो रंगीन है सिर्फ उस से,

काश वो आए और चुपके से गुलाल लगा जाए…

 

“पड़ोसन” के साथ “होली” खेलते वक्त,

ध्यान रखे वरना,

बगैर रंग डाले पत्नी आपका,

“गाल” “लाल” कर सकती है…

“जनहित में जारी” Happy Holi!

 

बाहों में भरकर पूछा था उन्होंने की,

कौन सा रंग लगाऊ तुम्हे,

मैंने भी कह दिया की,

मुझे सिर्फ तुम्हारे होठों का रंग पसंद है…!

Holi WhatsApp Status

होली का गुलाल हो,

रंगो की बहार हो,

गुझिया की मिठास हो,

एक बात खास हो,

सब के दिल में प्यार हो,

यही अपना त्यौहार हो…

 

होलिका दहन क साथ बीते पूरे वर्ष की सारी कड़वी यादों,

अनुभवों और दु:खों को जलाकर आने वाले नववर्ष में प्रेम,

उल्लास, आनंद, उमंग और भाईचारे के साथ जीवन व्यतीत करें।

होली की हार्दिक शुभकामनायें

 

मथुरा की खुशबू ,गोकुल का हार,

वृन्दाबन की सुगंध ,बरसाने की फुहार !

राधा की उम्मीद ,कान्हा का प्यार ,

मुबारक हो आपको होली का त्यौहार !!

 

Radha ka rang aur kanha ki Pichkari,

Pyar ke Rang se Rang do Duniya Saari,

Ye Rang na Jane koi Jaat na koi Boli

MUBARAK ho aapko

Rang Bhari Holi!!

 

May God gift you all the colors of life,

colors of joy, colors of happiness,

colors of friendship, colors of love

and all other colors you want to paint in your life.

 

Rango mein ghuli ladki kya laal gulabi hai

Jo dekhta hai kehta hai kya maal gulabi hai

Pichle baras tune jo bhigoya tha holi mein

Ab tak nishani ka woh rumaal gulabi hai.

 

2 Comments

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here